रांची: जूनियर इंजीनियर व कंप्यूटर ऑपरेटर का हल्ला बोल, पुलिस व प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झड़प..

राजधानी रांची में जूनियर इंजीनियर एवं लेखा लिपिक कंप्यूटर ऑपरेटर शनिवार को अपनी मांगों को लेकर बीच सड़क पर धरने पर बैठ गए। उधर पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए रास्ते को बंद कर दिया। यहां तक कि प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा। प्रदर्शनकारी अपनी मांगों को लेकर सरकार के मंत्री और सचिव से मिलने की बात कह रहे थे। लेकिन पुलिस ने समूह बनाकर प्रदर्शन करने को गैरकानूनी करार देते हुए मार्च की अनुमति नहीं दी।

इसी को लेकर पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच नोकझोंक हो गई। हालात को बिगड़ते देख उसे नियंत्रित करने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। कुछ लोगों को इसमें हल्की चोटें भी आई हैं। बताया जा रहा है कि जूनियर इंजीनियर एवं लेखा लिपिक कंप्यूटर ऑपरेटर लंबे समय से अपनी मांगों को लेकर आंदोलनरत हैं। राज्य सरकार से इन्हें आश्वासन दिया गया था कि जल्द ही इनकी समस्याओं का समाधान कर दिया जाएगा। लेकिन आश्वासन पर कार्रवाई नहीं हुई तो इन कर्मचारियों ने आंदोलन का रास्ता अख्तियार कर लिया।

आपको बता दें कि, पंचायती राज लेखा लिपिक और इंजीनियरों के द्वारा पिछले 15 दिनों से बिरसा चौक के पास धरना दिया जा रहा है| वहीं आज दोपहर करीब 1 बजे अचानक सभी आंदोलनकारी अपने हाथों में बैनर लेकर नारेबाजी करते हुए धरना स्थल से झारखंड मंत्रालय की ओर जाने लगे। हालात को देखते हुए जगन्नाथपुर पुलिस ने एचईसी गेट को बंद कर दिया। आंदोलनकारी गेट को जबरन खोलने पर आमादा थे लेकिन पुलिस गेट को बंद कर दूसरी ओर मुस्तैद थी।

उधर, मामले की जानकारी पाकर सदर एसडीओ, एएसपी हटिया विनीत कुमार, सिटी एसपी सौरभ कुमार मौके पर पहुंचे| इन अधिकारियों ने धरना दे रहे कर्मियों से बातचीत कर उन्हें समझाया कि आपकी बात मंत्री और सरकार तक पहुंचा दी जाएगी। धरना कर्मियों को आगे जाने से मना कर दिया और गेट को बंद रखने का आदेश दिया। इसके बाद आंदोलनकारी वहीं पर अपने हाथों में बैनर लेकर धरना स्थल पर बैठकर नारेबाजी करने लगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *