इंटरनेट की बढ़ेगी स्पीड, आईआईटी आईएसएम में डिजाइन होंगे 5जी मोबाइल और टावर का एंटिना..

इंटरनेट पर वीडियाे डाउनलाेडिंग, अपलाेडिंग करना हाे या 100 लाेगाें काे एक साथ वीडियाे काॅल में जोड़ना हाे, जिसमें बहुत समय लग जाता है या फिर काॅलिंग के दाैरान वीडियाे या ऑडियो का अचानक कट जाना एक बड़ी परेशानी साबित हो सकती है। जिसका एक मात्र उपाय 5जी होगा। 5जी के नए कम्युनिकेशन सिस्टम से यह परेशानियां पलभर में दूर हाेंगी। लोग पलक झपकते ही वीडियाे डाउनलाेड कर सकेंगे। इसके अलावा लाइव स्ट्रीमिंग के दौरान वीडियाे या ऑडियाे बंद होने की समस्या भी दूर हो जाएगी। 5जी कम्युनिकेशन सिस्टम के लिए आईआईटी आईएसएम, धनबाद अब माेबाइल और टावर में लगने वाला नया एंटिना डिजाइन करेगा। इसके लिए इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने संस्थान के इलेक्ट्राॅनिक्स इंजीनियरिंग विभाग काे 1.08 कराेड़ रुपए का फंड दिया है। नया एंटिना बहुत ही छाेटा हाेगा, लेकिन बहुत ही हाई फ्रिक्वेंसी (24-40 गीगाहर्ट्ज) पर काम करेगा।

बढ़ जाएगी इंटरनेट की स्पीड..
बता दें कि 5जी कम्युनिकेशन सिस्टम पर काम कर रहे आईआईटी धनबाद के प्राे रवि गंगवार ने बताया कि अभी 1 से 1.5 जीबी की फिल्म या वीडियाे डाउनलाेड करने में बहुत समय लग जाता है। वहीं नए कम्युनिकेशन सिस्टम की मदद से यह 10 सेकेंड से अधिकतम 1 मिनट में हाे जाएगा। इसमें नेट की स्पीड इतनी अधिक हाेगी कि सब कुछ पलक झपकते पूर्ण हो जाएगा। हालांकि आईआईटी के इस प्राेजेक्ट में एंटिना डिजाइनिंग का काम प्राे गंगवार के अलावा प्राे जय सिंह के नेतृत्व में होगा। वहीं प्राे जीतेंद्र सिंह टेक्नाेलाॅजी पर काम करेंगे। साथ ही प्राे सम्राट और प्राे हिमांशु सिग्नल प्राेसेसिंग पर काम करेंगे।

मिलेगी 5-5 लाख की फेलोशिप..
बता दें कि 5जी एंटिना और कम्युनिकेशन सिस्टम डिजाइन करने में कुल 5 वर्षाें का समय लगेगा। वहीं इस प्राेजेक्ट में तीन पीएचडी स्काॅलर भी शामिल रहेंगे, जिन्हें संस्थान काे मिले फंड में से 5-5 लाख रुपए की फेलाेशिप दी जाएगी। हालांकि इसके लिए आवेदन मांगकर अभ्यर्थियाें का चयन किया जाएगा। साथ ही संस्थान की लेबोरेट्री काे और बेहतर बनाने में भी कुछ राशि खर्च की जा सकती है।

नया एंटिना केवल 1 फुट का..
दरअसल प्राे गंगवार ने जानकारी देते हुए कहा कि 5जी कम्युनिकेशन सिस्टम में माेबाइल टावर में लगने वाला एंटिना फिलहाल 1 मीटर का हाेता है, लेकिन नया एंटिना केवल 1 फुट का हाेगा। उसकी बीम हर ओर पहुंचे, इसके लिए अभी टावर के चाराें ओर एंटिना लगाना हाेता है। वहीं नए एंटिना केवल एक ही लगेगा जो चाराें क्षेत्र काे कवर कर सकेंगया। उसी प्रकार माेबाइल का भी 25-30 एमएम तक का छाेटा एंटिना हाेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *