हार्डकोर नक्सली पिंटू राणा का सरेंडर, झारखंड सरकार ने 15 लाख का रखा था ईनाम..

रांची: भाकपा माओवादी संगठन में रीजनल कमेटी मेंबर पिंटू राणा समेत तीन नक्सलियों ने सरेंडर कर दिया है. सरेंडर करने वालों में पिंटू की पत्नी करुणा भी शामिल है. आपको बता दें कि यह तीनों नक्सली झारखंड-बिहार के सीमावर्ती इलाकों में काफी सक्रिय थे.

जहां बिहार सरकार ने पिंटू राणा पर एक लाख का इनाम रखा था तो वहीं, झारखंड सरकार ने 15 लाख का इनाम घोषित किया था. हालांकि, तीनों नक्सलियों के सरेंडर की आधिकारिक पुष्टि खबर लिखने तक नहीं हो पाई है. लेकिन, एक सहयोगी हिंदी वेबसाइट के मुताबिक, तीनों नक्सलियों ने बिहार के जमुई जिले में सरेंडर किया है.

कौन है पिंटू राणा?

आपको बता दें कि पिंटू राणा को राजेश राणा उर्फ मोचिन भी बुलाया जाता है, जो हार्डकोर नक्सली की श्रेणी में आता है. पिंटू बिहार के जमुई जिले का निवासी है. वह जिले के लक्ष्मीपुर थाना क्षेत्र के आनंदपुर गांव का रहने वाला है. जिसके ऊपर झारखंड सरकार ने 15 लाख तक वहीं, राज्य सरकार ने एक लाख का इनाम रखा है.

कैसे मिली कमान?

एक रिपोर्ट के मुताबिक पिंटू राणा को बिहार झारखंड के सीमावर्ती इलाके की कमान मिली हुई थी. दरअसल, हार्डकोर नक्सली सिद्धू कोड़ा की पुलिस हिरासत में मौत के बाद उन्हें यह कमान सौंपी गई. आपको बता दें कि 22 फरवरी 2020 को पुलिस की कस्टडी में ही हार्डकोर नक्सली सिद्धू कोड़ा की मौत हो गई थी.

ऐसे में बिहार और झारखंड में नक्सली कमजोर पड़ने लगे थे. कई नक्सलियों ने इस दौरान सरेंडर किया, कई पुलिस हत्थे चढ़े और कई मुठभेड़ में मारे गए. जिसके बाद पिंटू राणा को झारखंड-बिहार के सीमावर्ती इलाकों की कमान सौंपी गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *