झारखंड में कोरोना संक्रमण दर के टूटे सारे रिकॉर्ड, कम्यूनिटी स्प्रेड से मचा हाहाकार..

झारखंड में इस बार कोरोना की रफ्तार दूसरी लहर से लगभग 2.5 गुणा ज्यादा तेज है। दूसरी लहर (मार्च 2021) के शुरुआती दिनों में रोज मिलने वाले मरीजों की संख्या 37 से 3700 पहुंचने में लगभग 47 दिन लगे थे। इस बार मात्र 18 दिनों में रोज मिलने वाले मरीजों की संख्या 32 से 5081 पहुंच गई है। शनिवार काे काेराेना सभी जिलाें में पहुंच गया। पिछले 24 घंटे में 72742 सैंपल की जांच हुई, जिनमें से 5081 संक्रमित मिले। इनमें सबसे ज्यादा 1731 रांची के हैं। शनिवार काे एक दिन में 1166 लाेगाें ने काेराेना काे हराया। संक्रमितों की तरह स्वस्थ हाेने वालों में भी सबसे ज्यादा 309 लाेग रांची के हैं।

इधर राज्य सरकार के पूरा स्वास्थ्य महकमा कोरोना से संक्रमित हो गया है। स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता शनिवार को कोरोना संक्रमित पाए गए। इससे पहले विभाग के अपर मुख्य सचिव सहित कई पदाधिकारी, चिकित्सा पदाधिकारी तथा कर्मी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। शनिवार को भी राज्य के विभिन्न जिलों में बड़ी संख्या में संक्रमित की पहचान हुई। इससे एक्टिव केस की संख्या अब 20 हजार को पार कर चुकी है। मुख्यमंत्री आवास तक कोरोना संक्रमण पहुंच गया है। सीएम हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन, उनके दो बच्चे नितिल सोरेन और बिश्वजीत सोरेन कोरोना संक्रमित हो गए हैं। हालाकिं जांच में सीएम हेमंत सोरेन की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इनके अलावा सीएम हाउस में तीन अन्य लोग पॉजिटिव आए हैं इनमें एक सीएम की साली और एक गार्ड शामिल हैं।

देश के सिर्फ छह राज्यों में 20 हजार से अधिक एक्टिव केस..
झारखंड में कोरोना की स्थिति का अनुमान इसी से लगा सकते हैं कि देश के सिर्फ छह राज्यों में 20 हजार से अधिक एक्टिव केस हैं। इनमें महाराष्ट्र, दिल्ली, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु तथा पश्चिमी सिंहभूम शामिल हैं। अन्य सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में वर्तमान में झारखंड से कम एक्टिव केस हैं।