Rupa Tirkey Death Case: दारोगा रूपा तिर्की के पिता की ब्रेन मैपिंग करा सकती है CBI

झारखंड के साहिबगंज की महिला थाना प्रभारी दारोगा रूपा तिर्की की संदिग्ध परिस्थिति में मौत के मामले की जांच कर रही सीबीआइ इस केस में रूपा तिर्की के पिता देवानंद उरांव का ब्रेन मैपिंग व नार्को टेस्ट कराना चाहती है। पूरे मामले की जांच कर रही सीबीआइ की पटना शाखा से गत 11 अप्रैल को ही देवानंद को पत्र लिखकर उन्हें जांच में सहयोग करने और ब्रेन मैपिंग व नार्को टेस्ट के लिए सहमति देने का आग्रह किया है। कांड के अनुसंधानकर्ता सीबीआइ की पटना शाखा के अधिकारी गौतम कुमार अंशु ने देवानंद उरांव को लिखे पत्र में कहा है कि इस केस में वैज्ञानिक परीक्षण की आवश्यकता है। इसमें उनकी ब्रेन मैपिंग व नार्को जांच की जरूरत पड़ेगी। अनुसंधानकर्ता ने यह अनुरोध किया है कि वे (देवानंद उरांव) सहमति देंगे तो उसके अनुसार जांच की तिथि निर्धारित होगी। यह भी बताया गया है कि यह जांच बेहतर अनुसंधान का हिस्सा है।

गौरतलब है कि तीन मई 2021 को साहिबगंज में महिला दारोगा रूपा तिर्की का शव उनके सरकारी आवास में लटका हुआ मिला था। इसमें पहले यूडी केस दर्ज हुआ था। बाद में यह केस दारोगा शिव कुमार कनौजिया के विरुद्ध आत्महत्या के लिए उकसाने की धारा में हुआ था। केस दर्ज होने के बाद से ही आरोपित दारोगा शिव कुमार कनौजिया जेल में है। दारोगा रूपा तिर्की के पिता देवानंद उरांव ने पूरे मामले में हत्या का आरोप लगाते हुए जांच के कई बिंदुओं पर सवाल उठाया था और न्यायालय से सीबीआइ जांच का आग्रह किया था। पिता देवानंद उरांव याचिका पर सुनवाई के बाद ही हाई कोर्ट ने सीबीआइ से पूरे मामले की जांच का आदेश दिया था, जिसके बाद से ही सीबीआइ पूरे मामले की जांच कर रही है।

वायरल आडियो की हकीकत जानना चाहती है सीबीआइ..
मिली जानकारी के अनुसार पूर्व में रूपा तिर्की के कथित प्रेमी दारोगा शिव कुमार कनौजिया व रूपा तिर्की के पिता देवानंद उरांव के बीच बातचीत से संबंधित कथित आडियो वायरल होने का दावा किया गया था। उक्त आडियो में यह बात सामने आई थी कि रूपा तिर्की व शिव कुमार कनौजिया एक-दूसरे से शादी करना चाहते थे, जिसमें रूपा तिर्की के पिता इसके विरोध में थे। ब्रेन मैपिंग व नार्को टेस्ट से इस आडियो की सच्चाई का पता चलेगा।

न्यायिक जांच में आ चुकी है तनाव में खुदकुशी करने की बात..
राज्य सरकार के आदेश पर एक सदस्यीय न्यायिक जांच में दारोगा रूपा तिर्की की संदिग्ध मौत के मामले में इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि रूपा तिर्की की हत्या नहीं हुई थी, बल्कि उसने खुदकुशी की थी। वह प्रेम संबंध में विफल थी, वह शिव कुमार कनौजिया से शादी करना चाहती थी और ऐसा नहीं होता देख तनाव में आ गई, जिसके चलते तनाव में आकर खुदकुशी कर ली। राज्य सरकार ने विधानसभा में भी इस जांच रिपोर्ट को सार्वजनिक कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *