रांची रेल मंडल के ओरगा सेक्शन की पटरियों पर OMRS सिस्टम लगाने की तैयारी शुरू..

रांची: रेलवे ने यात्री ट्रेनों और मालगाड़ियों को लेकर नया सिस्टम लागू किया है। अब हर रेल मंडल में रेलवे की ओर से ऑनलाइन मॉनिटरिंग ऑफ रोलिंग स्टॉक सिस्टम लगाया जा रहा है। यह सिस्टम यात्री ट्रेनों और मालगाड़ियों का सुरक्षित परिचालन सुनिश्चित करता है। महाराष्ट्र की तरह अब रांची रेल मंडल के ओरगा सेक्शन की पटरियों पर भी OMRS लगाने की तैयारी हो रही है। इसके लगाने के उद्देश्य से रांची रेल मंडल के अधिकारियों ने ओरेगा सेक्शन का निरीक्षण कर इसकी रिपोर्ट रेलवे बोर्ड को भेज दी है। बोर्ड से स्वीकृति भी मिल गई है।

रेल अधिकारी का कहना है कि OMRS प्रणाली की मदद से चलती ट्रेन के पहिए, बैरिंग,एक्सेल और इंजन में आई खराबी का आसानी से पता लगाया जा सकता है। इससे रेल की पटरियों के टूटने और रेलगाड़ियों के पटरी से उतरने की घटनाएं कम होंगी। सीपीआरओ नीरज कुमार ने कहा कि OMRS और ATES सिस्टम लगाया जाएगा। इसके लिए रेलवे बोर्ड की ओर से 2 सिस्टम दिए जाएंगे। कार्य प्रगति पर है। इस प्रणाली को लगाने से ट्रेन दुर्घटना में कमी आएगी।

OMRS एक अत्याधुनिक तकनीक है। यह माइक्रोफोन और सेंसर युक्त हाई रेजोल्यूशन वाले कैमरे की एक प्रणाली है। जिसे पटरियों पर लगाया जाएगा। यह पटरियों पर कोच और इंजन से पैदा होनेवाले शोर को रिकॉर्ड करता है। साथ ही चलती ट्रेन की फुटेज स्क्रीन शॉट के रूप में इक्ट्ठा करता है। कैमरे में नाइट विजन लगा है, जिसकी मदद से रात में या खराब मौसम में भी आसानी से ट्रेन के अंदरूनी हिस्से की तस्वीर ली जा सकेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *