रांची: पीएलएफआई उग्रवादियों ने की थी भाजपा नेता जीतराम की गोली मारकर हत्या..

रांची में पिछले दिनों 22 सितम्बर को ओरमांझी के पालू इलाके में भाजपा एसटी मोर्चा के जिलाध्यक्ष जीतराम मुंडा की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इस हत्या का लगभग खुलासा कर लिया है। जीतराम मुंडा की हत्या ओरमांझी के साहेर गांव में रहने वाले मनोज मुंडा ने करायी थी। उसके ताल्लुकात पीएलएफआई से भी हैं। हत्या की घटना के बाद हिरासत में लिये गए दो संदिग्धों से पूछताछ में जुटी पुलिस टीम को यह जानकारी मिली है। यह पता चला है कि मनोज के इशारे पर जीतराम पर पीएलएफआई ने शूटरों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई थी।

गोली जीतराम के सिर को भेदते हुए दूसरी ओर निकली और समीप में बैठे होटल संचालक राजकिशोर साहू की हथेली में जा धंसी थी। आरंभिक छानबीन के बाद यह तय हो गया है कि हत्या मनोज के इशारे पर हुई थी। अब पुलिस की आईटी सेल कॉल डिटेल्स और अन्य वैज्ञानिक विधि के जरिए फरार मनोज तक पहुंचने के प्रयास में जुट गई है। हालांकि पुलिस होटल संचालक की संलिप्तता की भी गहराई से छानबीन कर रही है। गौतलब है की घटना के बाद जीतराम की पत्नी ने मनोज मुंडा और दो अज्ञात के खिलाफ ओरमांझी थाना में प्राथमिकी भी दर्ज करायी है।

जानकारी के अनुसार मनोज मुंडा को उसकी पत्नी की हत्या मामले मे फंसाने का संदेह जीतराम पर था। मनोज की पत्नी की करंट लगने से मौत हो गई थी। इस मामले में मनोज को सात साल की कैद भी हुई थी। उसे शक था कि जीतराम ने ही मामले में उसे फंसाया है। जेल से बाहर निकलने पर उसने जीतराम की हत्या की नीयत से एक बार उसपर पहले भी गोली चलने का प्रयास किया था, लेकिन मिस फायर होने की वजह से उस समय जीतराम बच निकला था। पुलिस के मुताबिक मनोज मुंडा की पत्नी और जीतराम पूर्व परिचित थे। संयोग से उसकी शादी जीतराम के साथ नहीं हुई। इसके बावजूद जीतराम, मनोज की पत्नी के साथ लगातार बातचीत करता रहता था। इसकी भनक मिलने पर मनोज ने कई बार जीतराम को चेताया भी था।

घटना के दिन भाजपा एसटी मोर्चा के द्वारा ओरमांझी शास्त्री चौक पर मांडर विधायक बंधु तिर्की का पुतला दहन कार्यक्रम आयोजित किया गया था। जीतराम मुंडा पुतला दहन कार्यक्रम में शामिल होकर राजकिशोर साहू के साथ लौट रहे थे। इसी दौरान वह आर्यन होटल में चाय पीने के लिए रुके। इसकी जानकारी शूटरों को दे दी गई। मनोज मुंडा होटल के समीप कार से और शूटर मोटरसाइिकल से पहुंचे थे। मनोज उस समय अपनी गाड़ी में ही बैठा रहा और शूटर सड़क के दूसरे छोर पर अपने साथी को मोटरसाइिकल के साथ मुस्तैद रखकर होटल पहुंचा। वहां उसने जीतराम के सिर पर निशाना कर गोली चलायी और वापस सड़क पार कर मोटरसाइिकल से रांची की ओर भाग निकला।

यह भी पढ़ें: रांची में भाजपा नेता जीतराम मुंडा की गोली मारकर हत्‍या..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *