झारखंड में मई और जून का राशन एक साथ पहुंचेगा घर, राशनकार्ड नहीं होने पर भी जरूरतमंदों को मिलेगी राहत..

झारखंड में राशन कार्ड धारकों को मई और जून का राशन एक साथ मिलेगा। राशनकार्ड न होने पर भी जरूरतमंदों की मदद की जाएगी। 31 मई तक सभी राशनकार्ड धारकों को मई और जून महीने का राशन पहुंचा दिया जाएगा। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सह राज्य के वित्त तथा खाद्य आपूर्ति मंत्री डा. रामेश्वर उरांव ने शुक्रवार को रांची स्थित पार्टी मुख्यालय में प्रदेश कांग्रेस राहत एवं निगरानी समिति स्थित कंट्रोल रूम का जायजा लेने के बाद यह जानकारी पत्रकारों से बातचीत के दौरान दी।

उन्होंने कहा कि पिछली बार लॉकडाउन में तत्कालीन केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने राशन कार्ड के अलावा अन्य जरूरतमंद परिवारों को भी अनाज उपलब्ध कराने का निर्णय लिया था। इस संबंध में अभी प्रभारी केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से बात करेंगे और सभी गरीबों के लिए राशन उपलब्ध कराने की मांग करेंगे। राज्य में 31 मई तक 57 लाख कार्डधारियों और 13 लाख नये राशन कार्डधारियों के घर तक मई तथा जून महीने का पांच-पांच किलोग्राम चावल उपलब्ध करा दिया जाएगा।इसके अलावा अन्य गरीबों को भी राज्य सरकार अनाज उपलब्ध कराएगी।

प्रवासी श्रमिकों को रोजगार मुहैया कराएगी सरकार..
मौके पर कृषिमंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि एक मई को मजदूर दिवस है। कोरोना संकट के बीच देशभर के विभिन्न हिस्सों से प्रवासी श्रमिक वापस लौट रहे है। इन सभी प्रवासी श्रमिकों को कृषि विभाग और ग्रामीण विकास विभाग के माध्यम से गांव-पंचायत में ही रोजगार उपलब्ध कराने का प्रयास किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *