गांव के लोग सरकार तक नहीं पहुँच पा रहे, तो सरकार उनके द्वार तक पहुंच रही है: हेमन्त सोरेन

लातेहार: गांव-गांव पंचायत-पंचायत आपके अधिकार- आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। झारखण्ड की भौगोलिक स्थिति कठिन है। कई क्षेत्रों में सरकार की निगाह और आवाज संभवतः नहीं पहुंच पाती है। अगर योजनाओं का लाभ  जरूरतमंद को नहीं मिल पाता है, तो योजनाओं का औचित्य क्या है। यही वजह है कि अगर आप सरकार तक नहीं पहुँच पा रहें हैं, तो सरकार आपके द्वार आई है। अंतिम व्यक्ति को  योजना का लाभ प्राप्त हो, इसका प्रयास किया जा रहा है। कार्यक्रम आयोजित कर लोगों को लाभान्वित करने का कार्य हो रहा है। लोग इस कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे, तो योजना धरी की धरी रह जायेगी। सभी जरूरतमंद शिविर में आकर सरकारी योजनाओं का लाभ लें। ये बातें मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने कही। मुख्यमंत्री वीर शहीद नीलाम्बर-पीताम्बर की भूमि लातेहार के कोने गांव में आयोजित ‘आपके अधिकार-आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम एवं विकास मेला में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा राज्यवासियों के सहयोग से सरकार झारखण्ड को पहचान देने का कार्य करेगी। सरकार पूर्व की व्यवस्था में तेजी से सुधार करने की दिशा में कार्य कर रही है। इसमें थोड़ा वक्त लगेगा। सरकार राज्य की जनता को मान सम्मान से जीने का अधिकार देना चाहती है। राज्य के पदाधिकारी यह सुनिश्चित करें कि इसमें किसी तरह की कमी नहीं हो।

वनोपज का लाभ ग्रामीणों को मिले..
मुख्यमंत्री ने कहा कि वनोपज पर कई ग्रामीण निर्भर हैं। सरकार इस क्षेत्र के लिए मजबूत व्यवस्था तैयार करने जा रही है। सभी के लिए व्यवस्थित मॉडल तैयार होगा। ताकि वनोपज पर निर्भर रहनेवालों की आय में वृद्धि की जा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व तक सीमित संख्या में पेंशन देने का कार्य हो रहा था। लेकिन वर्तमान सरकार ने लाभुकों की संख्या को सिमित से असीमित कर दिया है। 60 वर्ष से अधिक उम्र के सभी वृद्धजनों, निःशक्तजनों, परित्यक्त और विधवा महिला को पेंशन योजना का लाभ प्राप्त होगा। प्रयास है कि सरकार के दो वर्ष पूर्ण होने तक सभी को पेंशन योजना को जोड़ने का कार्य पूरा किया जाये।

कुपोषण दूर करने में सहयोग करें..
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के बच्चे कुपोषण का शिकार हैं। इसे हमें दूर करना है। सरकार सरकारी स्कूल के बच्चों को सप्ताह में 6 दिन अंडा देने का निर्णय लिया है। लेकिन अंडा हमें दुसरे राज्यों से मंगवाना पड़ता है। इस क्षेत्र में भी संभावनाएं है। यहां के लोग मुर्गी पालन कर अंडा उत्पादन करें। सरकार उन अंडों को खरीद लेगी। हम लोगों की आय में वृद्धि करना चाहते हैं।

राज्य गठन के उद्देश्य को पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ रहें हैं..
मंत्री श्री मिथिलेश कुमार ठाकुर ने कहा कि गौरव का दिन है। आज शहीद की भूमि में कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। झारखण्ड के वीर शहीदों के बलिदान से ही हमें आजादी मिली थी। लातेहार के अनगिनत लोगों ने अलग राज्य के लिए लड़ाई लड़ी थी। अलग राज्य का गठन हुआ। लेकिन जिस उद्देश्य से राज्य का गठन किया गया। उस उदेश्य को हम अबतक प्राप्त नहीं कर सके हैं। वर्तमान सरकार राज्य गठन के उद्देश्य को पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ रही है। पूर्व की स्थितियों को ठीक करने का प्रयास किया जा रहा है। सरकार बनते ही संक्रमण से पूरा देश प्रभावित हुआ। झारखण्ड भी इससे अछूता नहीं रहा। लेकिन सरकार ने सीमित संसाधनों के साथ संक्रमण के खिलाफ लड़ाई लड़ी। संक्रमण काल से निकलने के बाद अब सरकार आपको अपना अधिकार देने आपके द्वार आई है। ताकि ग्रामीण योजनाओं का लाभ ले सकें।

योजनाओं का लाभ राज्यवासी उठाएं..
लातेहार विधायक श्री बैद्यनाथ राम ने कहा कि पूरे राज्य में राज्यवासियों को उनका अधिकार देने के लिए सरकार आपके द्वार आ रही है। इसके जरिये सरकार के स्तर में मिलने वाली सुविधाओं से जोड़ने की पहल। सरकार गांव और गरीबों के लिए कार्य करना चाहती है। लातेहार के हर पंचायत में कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा। जिलावासी अपनी समस्याओं से हमें अवगत कराएं। सरकार के पदाधिकारी आपके पास आकर आपकी समस्याओं का समाधान ढूंढ रहें है। गांव के लोग आगे आएं और अपनी बात बेझिझक रखें। ताकि समस्याओं का निष्पादन किया जा सके। योजनाओं का लाभ राज्यवासी उठाएं। पेंशन योजना से सभी को जोड़ने का कार्य किया जा रहा है। 60 वर्ष के सभी वृद्धजनों को पेंशन योजना से जोड़ने का कार्य हो रहा है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने नीलाम्बर-पीताम्बर के प्रपौत्र श्री रामानंद सिंह और वंशजों श्री कोमल सिंह से बात की। मुख्यमंत्री ने उपायुक्त लातेहार को वीर शहीदों के परिजनों को हर संभव सहायता करने और सरकारी योजनाओं से जोड़ने का आदेश दिया। इस अवसर पर उपायुक्त लातेहार श्री अब्बू इमरान, पुलिस अधीक्षक लातेहार श्री अंजनी अंजन, नीलाम्बर-पीताम्बर के वंशज श्री रामानंद सिंह, श्री कोमल सिंह एवं अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *