गढ़वा में 11 हजार रुपये रिश्वत लेते रोजगार सेवक को एसीबी ने किया गिरफ्तार..

गढ़वा में आज एसीबी की टीम ने एक रोजगार सेवक को 11 हजार रुपये रिश्‍वत लेते गिरफ्तार किया। मामला जिले के डंडाई प्रखंड अंतर्गत करके पंचायत का है। यहां के रोजगार सेवक शैलेश कुमार को आज दोपहर पलामू से आई एसीबी की टीम ने 11 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ धर दबोचा। इसके बाद एसीबी की टीम आवश्यक प्रक्रिया पूरी कर रोजगार सेवक को अपने साथ मेदिनीनगर ले गई।

शैलेश चंद्रवंशी को मनरेगा योजना के अन्तर्गत डोभा निर्माण के लिए लाभुक मेरुन बीवी से 11 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों धर दबोचा गया। रिश्वत लेते रोजगार सेवक को एसीबी द्वारा पकड़े जाने की जानकारी मिलते ही प्रखंड मुख्यालय में हड़कंप मच गया।

जानकारी के अनुसार करके गांव निवासी मेरून बीवी मनरेगा योजना के तहत डोभा का निर्माण करा रही है। डोभा निर्माण की तीसरी किस्त की राशि देने के नाम पर रोजगार सेवक शैलेश चंद्रवंशी द्वारा उससे लगातार कमीशन मांगा जा रहा था। मामले को लेकर मैरून बीवी के बेटे नियाजुद्दीन अंसारी ने एसीबी से इसकी शिकायत की थी। शिकायत के आलोक में एसीबी की टीम द्वारा रिश्वत मांगे जाने की जांच की गई। इसके बाद आज एसीबी टीम ने कार्रवाई करते हुए रोजगार सेवक को पैसा लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

इधर शैलेश चंद्रवंशी का कहना था कि वे प्रखंड के प्रभारी बीपीओ का भी अभी काम देख रहे थे। कुछ पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा लगातार गलत काम करने के लिए दबाव दिया जा रहा था। जब उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों की बातों को नहीं माना तो एक साजिश के तहत रिश्वत देकर फंसा दिया गया। विदित हो कि वर्ष 2021 में एसीबी द्वारा गढ़वा जिले में रिश्वत लेने के आरोप में यह पहली कार्रवाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *