विधायक खरीद-फ़रोख्त मामले में आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला जारी..

रांची: झारखण्ड की राजनीतिक गलियारों में इन दिनों साजिश द्वारा सरकार गिराने का मामला काफी चर्चा में है| विधायकों की खरीद-फ़रोख्त कर के हेमंत सरकार को नुकसान पहुँचाने में शामिल लोगों के बारे में हर दिन कुछ नया खुलासा हो रहा है| सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पिछले दिनों कांग्रेस के तीन विधायक दिल्ली गये थे| इनमें बरही विधायक उमाशंकर अकेला, डॉ. इरफान अंसारी और बरकट्ठा विधायक अमित कुमार यादव शामिल हैं| इस पूरे मामले में रांची के होटल ली-लैक से तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है जिनपर विधायकों की खरीद प्रक्रिया में शामिल होने का आरोप है| बताया जा रहा है कि टिकट पीएनआर नंबर (IGCT2V) पर विधायकों के अलावा उक्त तीनों आरोपी भी दिल्ली गये थे| कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ इरफान अंसारी ने इस मामले पर अपनी नाराजगी जतायी है| उनका कहना है कि ये आरोप उनकी छवि बिगाड़ने के लिए लगाये जा रहे हैं| उनका इस मामले से कोई लेना-देना नहीं है|

मेरे ही पीछे पड़ी है मेरी पार्टी: डॉ. इरफ़ान..
पीएनआर मसले पर डॉ. इरफान अंसारी ने कहा है कि उनकी छवि को बदनाम करने की साजिश की जा रही है| उनकी ही पार्टी के लोग उनके खिलाफ साजिश रच रहे हैं| अंसारी कहते हैं, “उन्हें शायद ये नहीं मालूम कि मेरे चलते ही पार्टी सत्ता में आयी और मुझे ही बदनाम करने पर तुली है, ये मैं कतई बरदाश्त नहीं करूंगा| ये सब काम माफिया का है|”

सीबीआई जांच की मांग..
डॉ इरफान अंसारी के अनुसार वह अपने पिता के इलाज के सिलसिले में दिल्ली गए थे| निर्दलीय विधायक अमित कुमार यादव ही उन्हें दिल्ली लेकर गये थे क्योंकि उनकी पत्नी का इलाज भी वेदांता में होना था| इसलिए इस पूरे मामले की जांच जरूरी है| उन्होंने इस पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की है| उन्होंने कहा कि सीबीआई जांच में पूरे मामले का दूध का दूध पानी का पानी हो जायेगा|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *