अग्निपथ योजना के विरोध में कांग्रेस का सत्याग्रह, कई नेता बैठे धरने पर..

केंद्र सरकार द्वारा लागू अग्निपथ योजना के विरोध में झारखंड के सभी 81 विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस ने आज सत्याग्रह किया और मार्च निकाला। कांग्रेस कमेटी ने जहां मार्च निकाला वहीं, महानगर कांग्रेस के अध्यक्ष संजय पांडेय के नेतृत्व में बिरसा चौक पर धरना दिया। इसमें कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय मुख्य रूप से शामिल हुए। धरना में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने कहा कि देश के नौजवानों के साथ अग्निपथ योजना एक खिलवाड़ की तरह है। इससे युवाओं का भविष्य सुधरेगा नहीं, बल्कि और बर्बाद हो जाएगा। केंद्र सरकार अपनी इस योजना को सफल बनाने में सेना को मोहरे की तरह इस्तेमाल कर रही है। केंद्र को अपनी नीतिगत निर्णय को सही साबित करने के लिए तीनों सेनाओं के अध्यक्षों को बयान जारी करना पड़ रहा है। हटिया विधानसभा प्रभारी अजयनाथ शाहदेव ने कहा कि अल्पावधि के लिए सेना में नियुक्ति से रिटायरमेंट के बाद जहां एक तरफ युवाओं में अवसाद बढ़ेगा, वहीं दूसरी तरफ अस्थाई रूप से सेना में नियुक्त जवानों और अधिकारियों का मनोबल भी गिर सकता है। महानगर कांग्रेस अध्यक्ष संजय पांडेय ने कहा कि इस योजना से युवाओं में सेना में जाने का जज्बा कम होता जाएगा। इससे देश की सैन्य क्षमता पर असर पड़ने की पूरी संभावना है।

भाजपा लागू कर रही नो रैंक-नो पेंशन : सुबोधकांत
पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने कहा कि एक रैंक एक पेंशन की बात कर सत्ता प्राप्त करने वाली भाजपा अब नो रैंक नो पेंशन योजना लागू करने की कोशिश कर रही है। देश के युवाओं को सेना में नौकरी देने के नाम पर छलने की साजिश भाजपा सरकार कर रही है, लेकिन युवा वर्ग मोदी और उनके नुमाइंदों की इस साजिश में नाकाम कर देगी।

युवा आंखें खोलें और नकली देश भक्तों की पहचान करें : ठाकुर
अग्निपथ योजना के खिलाफ कांग्रेस ने कांग्रेस भवन से समाहरणालय तक सत्याग्रह मार्च निकाला। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने कहा कि अब देश के युवा आंखें खोलें और नकली देश भक्तों की पहचान करें। यह स्किम युवाओं के लिए और सैन्य शक्ति के लिए विनाशकारी होगी। युवाओं से ढृढ़ता और शांति से संघर्ष करने का आग्रह किया, लेकिन वो युवा यह भी याद रखें कि हमें किसी भी हाल में रूकना नहीं है, संघर्ष करना है। पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने कहा कि चार साल की सेवा के बाद पूर्व सैनिक की भूमिका में आने वाले युवाओं के पास क्या काम होगा। इसे देश में बेरोजगार युवाओं की तदात लंबी होगी। देश में गृह युद्ध जैसी स्थिति पनप रही है। पूरी तरह से लोकतंत्र की धज्ज्यिां उड़ाई जा रही है।

सत्याग्रह धरना-मार्च में थे मौजूद..
अनादि व्रह्म, प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद, राकेश सिन्हा, रवींद्र सिंह, ज्योति सिंह मथारू, अमूल्य नीरज खलखो, विनय सिन्हा दीपू, उदय प्रताप, विशाल सिंह, सलीम खान, पिकलू चटर्जी, इंद्रजीत सिंह, सुनील सिंह, शाहबाज अहमद, योगेंद्र सिंह, नेली नाथन, आदित्य विक्रम जायसवाल, जगदीश साहू, रणविजय सिंह, नीतू देवी, गुड्डू यादव, गौतम उपाध्याय, बॉबी खान, राजेश कुजुर, परमेश्वर सिंह, अजय चौधरी, अमरेंद्र सिंह, जितेंद्र त्रिवेदी, राजन वर्मा समेत अन्य मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *