भाजपा विधायक ने खुद पर हमले के पीछे बालू तस्करों का बताया हाथ, विरोधियों पर साधा निशाना..

गोड्डा विधायक अमित मंडल पर जानलेवा हमला की पुलिस जांच शुरू हो गई है। दो से तीन की संख्या में हमलावर थे। उनलोगों ने रेकी भी की थी। विधायक मंडल अपने भागलपुर स्थित आवास के निकट टहल रहे थे तभी यह घटना घटी। घटना के दूसरे दिन तिलकामांझी पुलिस स्टेशन की पुलिस ने पूरे मामले की जांच शुरु कर दी है। गोड्डा विधायक अमित मंडल ने कहा कि वे राजनीतिक विरोधियों के निशाने पर हैं। गोड्डा सहित उससे सटे बांका और भागलपुर में रेत माफियाओं ने नदियों को तबाह कर रखा है। पुलिस प्रशासन मूक दर्शक बना रहता है। बालू तस्करी का विरोध करने पर अपराधियों ने उन्हें भयभीत करने के लिए ऐसा हमला किया है। बुधवार की शाम की घटना के बाद सदर अस्पताल में विधायक का इलाज किया गया। गुरुवार को उनसे मिलने भाजपा कार्यकर्ता और बांका के विधायक राम नारायण मंडल भी पहुंचे और उनका कुशलक्षेम पूछा।

विधायक अमित मंडल ने कहा कि चुनाव के वक्त भी उनकी गाड़ी को बालू ट्रैक्टर ने डायस किया था। वही उनके प्रतिद्वंद्वी चुनाव हारने के बाद ही कहते फिर रहे थे कि गोड्डा में एक दो साल में उपचुनाव होगा। विधायक ने कहा कि वे अब सजग है। कहा कि उनके विरोधियों को मुंहतोड़ जवाब देने को क्षेत्र की जनता तैयार बैठी है। इधर घटना की जानकारी पर काफी संख्या में विधायक के समर्थक उनके आवास पर जुट गए हैं। हमले को लेकर सीसी कैमरे की फुटेज का अवलोकन कर पुलिस हमलावरों की तलाश में दबिश दे रही है। घटना को लेकर विधायक के स्थानीय समर्थकों में काफी रोष देखा जा रहा हैं। इधर जानलेवा हमले को लेकर एसएसपी निताशा गुड़िया ने भी विधायक पर हमले को लेकर पूछताछ की है। दो-तीन की संख्या में हमलावरों ने पत्थरबाजी कर विधायक को जख्मी कर दिया था। ईंट-पत्थर से हमला करने वालों की गिरफ्तारी के लिए सिटी एएसपी के नेतृत्व में तिलकामांझी पुलिस छापेमारी कर रही है। विधायक पर हुए हमले के बाद से इलाके में सनसनी का माहौल है। पुलिस आस पड़ोस के लोगों से पूछताछ कर रही है। इसके साथ ही सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *