बोकारो में बर्ड फ्लू की दस्तक से मचा हड़कंप..

बोकारो में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद झारखंड में हड़कंप मचा हुआ है। धनबाद में भी पोल्ट्री फार्म का सर्वे पशुपालन विभाग की ओर से तेज कर दिया गया है। जिला पशुपालन पदाधिकारी के निर्देश पर सभी प्रखंड पशुपालन पदाधिकारी अपने-अपने इलाके में पोल्ट्री फार्म का सर्वे कर रहे हैं। पोल्ट्री फॉर्म में मुर्गियों की मरने की स्थिति समेत अन्य जानकारी ली जा रही है। राहत की बात यह है कि विभाग की ओर से पिछले दिनों 114 मृत मुर्गियों के सैंपल जांच के लिए रांची भेजे गए थे। इन सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

गौरतलब है की बोकारो जिले के सरकारी पोल्ट्री फार्म में कड़कनाथ मुर्गियों की मौत के बाद सैंपल जांच के लिए भोपाल स्थित प्रयोगशाला भेजा गया था। जांच रिपोर्ट आने के बाद राजकीय कुकुक्ट पोल्ट्री फार्म में मुर्गियों की मौत का कारण बर्ड फ्लू बताया गया है। बोकारो के कुकुट क्षेत्र के प्रभारी धनबाद के जिला पशुपालन पदाधिकारी डॉ प्रवीण कुमार हैं। उन्होंने बताया कि बोकारो क्षेत्र के कुकुर क्षेत्र में कड़कनाथ मुर्गे में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। इसके 10 किलोमीटर के इलाके को संवेदनशील क्षेत्र मानकर किसी भी प्रकार के मुर्गे की बिक्री पर रोक लगा दी गई है। उन्होंने बताया कि इन इलाकों के मुर्गे को दूसरे क्षेत्र अथवा जिले में नहीं भेजना है।

अफवाह पर ध्यान ना दें, लेकिन रहें सतर्क..
डॉ प्रवीण कुमार ने बताया कि बर्ड फ्लू को लेकर किसी प्रकार पर अफवाह पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है। उन्होंने बताया कि किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए जिला पशुपालन विभाग से संपर्क किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि एहतियात के तौर पर लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है।

क्या है इंसानों में बर्ड फ्लू के लक्षण..
सिविल सर्जन डा. ए बी प्रसाद ने बताया कि अगर किसी व्यक्ति को बर्ड फ्लू संक्रमित करता है तो इसके लक्षण बहुत ही सामान्य होते हैं। संक्रमित मरीज को खांसी, बुखार, मांसपेशियों में दर्द, गले में खराश, सिर में दर्द और सांस लेने में परेशानी हो सकती है। अगर किसी को ऐसा लक्षण दिख रहा है तो वे तुरंत सदर अस्पताल या नजदीकी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में जाकर चिकित्सक से जांच कराएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *