पलामू में जिला कल्याण पदाधिकारी व क्लर्क रिश्वत लेते गिरफ्तार..

पलामू जिले में एसीबी ने जिला कल्याण पदाधिकारी सुभाष कुमार व लिपिक मनोज कुमार को रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। दोनों पर योजना पारित कराने के नाम पर 20 हजार रुपये बतौर रिश्वत लेने का आरोप है। दोनों की गिरफ्तारी समाहरणालय परिसर स्थित विभाग के कार्यालय से हुई है। गिरफ्तारी के बाद जिला कल्याण पदाधिकारी के बाईपास रोड स्थित घर की भी तलाशी ली गई। इसमें 2.83 लाख रुपए नगद बरामद हुए हैं। इस राशि को भी जब्त कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें : पलामू में एसीबी ने रोजगार सेवक को 5 हजार रुपये घुस लेते पकड़ा..

एसीबी के उपाधीक्षक करुणा राम ने बताया कि छतरपुर देवासी निवासी उगाशंकर बैगा ने ग्राम-टुन्डुर, धुगकुडीया भवन निर्माण के लिए एक पत्र जिला कल्याण पदाधिकारी पलामू कार्यालय में जमा किया था। इस पर उपायुक्त पलामू के पत्रांक 530/कल दिनांक 24.06.2021 के माध्यम से सरकार के संयुक्त सचिव अनुसूचित जनजाति अल्पसंख्यक एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग रांची को भवन निर्माण योजना की स्वीकृति प्रदान करते हुये आवंटन की मांग की गई थी। बावजूद इसके डुन्डुर ग्राम में धुमकुडीया भवन निर्माण का आवंटन प्राप्त नही हुआ था। वादी द्वारा जिला कल्याण पदाधिकारी, पलामू सुभाष कुमार से मिलकर धुमकुडीया भवन के बारे में जानकारी मांगी। जिला कल्याण पदाधिकारी ने भवन के आवंटन के लिए सहायक मनोज कुमार से मिलने की सलाह दी। एसीबी के उपाधीक्षक ने बताया कि सहायक ने आवंटन के लिए 20 हजार रुपये की मांग की थी। बाद में वादी पुनः जिला कल्याण पदाधिकारी सुभाष कुमार से मिलकर रूपये मांगने की जानकारी दी। इसपर जिला कल्याण पदाधिकारी ने कहा कि बार-बार मेरे पास मत आईये मनोज जो बोल रहा है उसे दें। इसके बाद वादी ने ACB को सूचना दी। ACB ने अपने सत्यापन में मामला सही पाया। जिसके बाद उनकी गिरफ्तारी के लिए जाल बिछाया गया।

यह भी पढ़ें : पलामू में घूस लेते रोजगार सेवक गिरफ्तार, भ्रष्टाचार के खिलाफ ACB ने की कार्रवाई..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *