रूपेश हत्याकांड की फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी सुनवाई..

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से बरही करियातपुर निवासी दिवंगत रूपेश पांडे की माता उर्मिला पांडे एवं पिता सिकंदर पांडे ने आज मुलाकात की। मुख्यमंत्री से रूपेश पांडे की मां ने दिवंगत पुत्र के लिए न्याय मांगा। परिजनों ने मुख्यमंत्री से मामले की जांच CBI से कराने का आग्रह किया। जिससे उनके पुत्र को न्याय मिल सके। मुख्यमंत्री ने परिजनों को आश्वस्त किया कि परामर्श के बाद सरकार इस पर निर्णय लेगी। रूपेश मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट की जाएगी। मुख्यमंत्री ने रूपेश की मां के स्थायी जीवन यापन की व्यवस्था हेतु उपायुक्त हजारीबाग को निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद जिला प्रशासन हजारीबाग द्वारा उर्मिला देवी की स्थायी आजीविका हेतु प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इस मौके पर बरही विधायक उमाशंकर अकेला, गिरिडीह विधायक श्री सुदिव्य कुमार सोनू एवं अन्य उपस्थित रहे।

क्या है रुपेश हत्याकांड, घटना के बाद क्या हुआ..
मालूम हो कि झारखंड के हजारीबाग जिले के बरही थाना क्षेत्र में सरस्वती पूजा विसर्जन के दौरान एक समुदाय विशेष के लोगों द्वारा रुपेश पांडे की पीट कर हत्या कर दी गई थी। इस घटना के बाद सांप्रदायिक तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। झारखंड के हजारीबाग समेत आसपास के पांच जिलों में तनाव फैल गया था। सरकार और प्रशासन में आनन-फानन में दो दिनों के लिए इंटरनेट सेवा पर प्रतिबंध लगा दिया था। इस हत्या के विरोध में समुदाय विशेष के कुछ लोगों के वाहनों पर पथराव और आगजनी की घटना भी हुई थी। पीड़ित पक्ष के लोगों ने जीटी रोड जाम कर घंटों प्रदर्शन किया था।

झारखंड के सभी जिलों में भाजपा ने किया था प्रदर्शन..
भारतीय जनता पार्टी ने इसे मॉब लिंचिंग करार देते हुए झारखंड के सभी जिलों में धरना प्रदर्शन किया था। भारतीय जनता पार्टी के नेता कपिल मिश्रा दिल्ली से रांची पहुंच गए थे, वह रुपेश पांडे के परिजन से मिलने हजारीबाग जाने वाले थे, लेकिन प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था का हवाला देते हुए रांची एयरपोर्ट पर उन्हें रोक लिया था। झारखंड के सभी जिलों में भाजपा कार्यकर्ता कई दिनों तक कैंडल मार्च निकालकर हेमंत सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते रहे। घटना के बाद एक फिल्म निर्माता ने रुपेश पांडे के परिजनों को पांच लाख रुपये की मदद भी दी थी। यह मामला झारखंड में लगातार सुर्खियों में बना रहा। इस मामले में पुलिस ने कई आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.