आज से 11 मार्च तक पुलिसकर्मी कर रहे काला बिल्ला लगाकर ड्यूटी, जानें पूरा मामला..

झारखंड पुलिस मेंस एसोसिएशन से जुड़े राज्य भर के 73 हजार सिपाही-हवलदारों का आंदोलन बुधवार से शुरू हो गया। पहले चरण में पुलिस के जवान काला बिल्ला लगाकर ड्यूटी कर रहे हैं। राजधानी रांची से लेकर राज्य के सभी जिलों ड्यूटी पर जाने से पहले पुलिस के जवानों ने अपनी वार्दी पर काला बिल्ला लगाया। झारखंड विधानसभा में ड्यूटी पर तैनात सुरक्षा कर्मी भी काला बिल्ला लगाकर खड़े थे। विधानसभा में भाकपा माले विधायक विनोद सिंह ने पुलिस के जवानों की मांगों का समर्थन किया। उनके समर्थन में काला बिल्ला लगाया। झारखंड पुलिस मेंस एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष राकेश कुमार पांडेय ने बताया कि एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मिलने के लिए कई बार समय मांगा, लेकिन असफलता हाथ लगी।

आंदोलन के द्वितीय चरण में आगामी 21 मार्च को सभी जिला-वाहिनी, पोस्ट व पिकेट का मेस बंद रहेगा। सभी जवान एक दिन के सामूहिक उपवास पर रहेंगे। इस पर भी सरकार ने कोई पहल नहीं की तो आंदोलन के तृतीय चरण में 31 मार्च को एसोसिएशन के पदाधिकारी-सदस्य अपने-अपने जिला,वाहिनी मुख्यालय में एक दिवसीय धरना देंगे और वहां के विभागाध्यक्ष को अपनी मांग पत्र सौंपगे। इसके बाद भी इनकी मांगों पर विचार नहीं हुआ तो आंदोलन के चौथे चरण में पांच दिनों के सामूहिक अवकाश पर चले जाएंगे।

पुलिसकर्मियों की ये है मांग..
झारखंड पुलिस के सिपाही और हवलदार अपनी 19 सूत्री मांगों को लेकर बुधवार (9 मार्च, 2022) से आंदोलन शुरू कर दिये हैं। इसके तहत पहले की तरह 20 दिनों की क्षतिपूर्ति अवकाश बहाल करने की मांग के अलावा 7वें वेतन के अनुरूप वर्दी भत्ता समेत अन्य भत्ता लागू करना, एक माह का अतिरिक्त वेतन में कमियों का समाधान करना, जवानों के बेहतर इलाज के लिए मेडिकल की सुविधा उपलब्ध कराना, डिस्प्रेशन में रहनेवाले जवानों के सुसाइड मामले की रोकथाम के लिए सार्थक पहल करना, नक्सलियों के खिलाफ डटे जवानों को प्रोत्साहित करना, मुसहरी कमेटी के अनुरूप जवानों को आठ घंटे की ड्यूटी एंव साप्ताहिक रोस्टर छुट्टी प्रदान करना, पुलिसकर्मियों को ससमय पदोन्नति दिलाने के अलावा अन्य मांग शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *