ली-लैक होटल के कमरों में हो रही राजनीतिक मुलाकातों का सच धीरे-धीरे आ रहा सामने..

रांची: बीते दिनों हुए होटल ली-लैक में छापेमारी व राज्य के झामुमो-कांग्रेस-राजद सरकार के खिलाफ़ साजिश करने के लिए तीन लोगों की गिरफ्तारी मामले में नया खुलासा हुआ है| 15 जुलाई से 22 जुलाई तक राजधानी रांची से लेकर दिल्ली तक हुई मुलाकातों व घटनाओं की विस्तृत जानकारी मिली है| सूत्रों के अनुसार इस पूरी साजिश में महाराष्ट्र BJP के दो विधायक और मोहित भारतीय व जय कुमार बेलखेड़े शामिल थे| मोहित भारतीय मुंबई भाजपा के पूर्व सचिव रह चुके हैं| 2012 से 2019 तक वह IGBA के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे| वर्ष 2013 से 2014 तक वह मुंबई भाजपा के वाईस प्रेसिडेंट थे| | जय कुमार बेलखेड़े पहले NSG में असिस्टेंड कमांडेंट थे और वीआरएस लेने के बाद नागपुर में कोचिंग चलाते हैं| इस मामले में महाराष्ट्र भाजपा के दो विधायकों चंद्रशेखर राव बावनकुले और चरण सिंह के नाम सामने आ रहे हैं|

सूत्रों के अनुसार महाराष्ट्र निवासी जय कुमार बेलखेड़े ने अमित कुमार सिंह को टिकट दी थी| 15 जुलाई को बोकारो निवासी अमित कुमार सिंह ने रातू रोड निवासी अभिषेक कुमार दुबे को इंडिगो फ्लाईट का टिकट PNR no- OMZMRW भेजा था| एक अन्य PNR No- IGCT2V से भी टिकट खरीदे गये थे.

बताया जा रहा है कि होटल ली-लैक में चार कमरे बुक करवाए गए थे| कमरा नंबर 307, 310, 407 व 611 में जो लोग रूके थे, उनमें महाराष्ट्र निवासी मोहित भारतीय, अनिल कुमार, आशुतोष ठक्कर व जय कुमार शंकर राव जीव बेलखड़े शामिल हैं. गुरुवार 22 जुलाई की रात पुलिस के पहुंचने से 15-20 मिनट पहले सभी होटल से फ़रार हो गये. इस मामले में कथित रूप से एक पत्रकार कुंदन सिंह के भी शामिल होने की खबर सामने आ रही है. पुलिस ने सभी के बैग, कपड़े समेत अन्य सामानों को जब्त कर लिया है.

दिल्ली में महाराष्ट्र भाजपा के नेता से 5 जुलाई को मिले थे तीन स्थानीय विधायक:
शाम के 6.10 बजे की इस फ्लाइट से अमित कुमार सिंह, निवारण महतो और तीन स्थानीय विधायक दिल्ली गये| वहां से एक इनोवा व एक स्कॉरपियो से सभी HOTEL VIVANTA पहुंचे| उन सबके साथ जय कुमार बालखेड़े का बॉडीगार्ड अभिषेक मिश्रा भी था. होटल से सभी महाराष्ट्र भाजपा के दो विधायक चंद्रशेखर राव बावनकुले और चरण सिंह से मिलने पहुंचे| इसके अलावा उनकी मुलाकात और भी कई बड़े नेताओं से करवाई गयी|. एक बड़े नेता से करीब 15 मिनट की मुलाकात के बाद सभी विधायक झारखंड भवन लौट गये|

एक करोड़ नहीं मिले तो गुस्से में वापस लौटे तीनों विधायक:
16 जुलाई को दुबारा इन तीनों विधायकों की एक अन्य बड़े नेता से मुलाकात हुई | वहां पर उन्हें एक करोड़ रूपये देने का बात कही गई लेकिन तुरंत दिया नहीं गया| इससे सभी नाराज़ हो गए| दिन के 3.55 बजे की फ्लाइट से तीनों विधायक वापस रांची लौट गये| 21 जुलाई को जय कुमार बेलखेड़े 2.30 बजे की फ्लाइट से रांची पहुंचे और होटल ली लैक में रुके| यहाँ आ कर वो स्थानीय विधायकों से लगातार संपर्क करते रहे| होटल में जय कुमार के अलावा आशुतोष ठक्कर और अमित कुमार यादव भी रुके रहे| जय कुमार ने यहाँ भी अभिषेक दुबे को बुलाया| संतोष कुमार नामक एक व्यक्ति दो विधायकों से बात कर रहा था| इनके अलावा एक कथित पत्रकार कुंदन सिंह भी दो विधायकों से बात कर रहे थे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *