रांची में BJP की विश्वास रैली: राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा- आदिवासियों की चिंता केवल बीजेपी ने की..

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा आज रांची पहुंचेl पर्यावरण दिवस के मौके पर नड्डा ने राजधानी के मोरहाबादी मैदान में आयोजित धरती आबा बिरसा मुंडा विश्वास रैली में शिरकत की। रैली में बोलते हुए उन्होंने कहा कि भारत के लिए लड़ी गई स्वाधीनता की लड़ाई में आदिवासियों ने ही सबसे पहले अंग्रेजों के खिलाफ आवाज उठाई थी। 1855 का आन्दोलन इसका प्रत्यक्ष उदाहरण है।उन्होंने कहा की महात्मा गांधी ने तो विदेश से लौटने के बाद अंग्रेजों के खिलाफ आवाज उठाई। उससे पहले तिलका मांझी, भगवान बिरसा मुंडा से लेकर जतरा भगत जैसे कई जनजाति समाज के नेता हैं जिन्होंने अंग्रेजी हुकूमत के अन्याय के खिलाफ आवाज बुलंद की।

आदिवासियों की चिंता केवल बीजेपी ने की..
उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में अलग से आदिवासियों के लिए एक मंत्रालय की स्थापना की गई। उससे पहले जनसंघ के दौर में भी आदिवासी हितों को महत्त्व दिया गया। उस दौर के नेता करिया मुंडा इसका प्रत्यक्ष उदाहरण हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेता छाती ठोक कर बोलते है कि आदिवासी समाज के लिए पार्टी क्या-क्या किया। वहीं विपक्ष केवल यही बोलेगा कि कैसे उन्होंने आदिवासियों को ठगा।

बिरसा मुंडा विकास यात्रा की शुरुआत..
उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज के नेताओं के लिए बीजेपी उड़ीसा, छत्तीसगढ़ के बस्तर, झारखंड, महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में आदिवासी विकास यात्रा निकालेगी। इसी तरह 28 राज्यों में गौरव अभियान चलाया जाएगा। जिस गांव के लोग शहीद हुए हैं, उनकी याद में वैसे गांव को चयन कर बीजेपी आदर्श गांव बनाने का काम शुरू करेगी। साथ ही उन्होंने आदिवासी समाज को बीजेपी की ओर आकर्षित करने के उद्देश्य से पार्टी के आगामी कार्यक्रमों का भी जिक्र किया।

केंद्र सरकार में आदिवासियों की हिस्सेदारी का किया बखान..
अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए जेपी नड्डा ने कहा कि आज मोदी सरकार में 8 मंत्री जनजातीय समाज से जुड़े हैं। 36 सांसद लोकसभा के, 8 राज्यसभा के सांसद हैं। यह सभी जानते हैं, राज्यसभा में कोई भी रिजर्वेशन नहीं मिलता। इसी तरह देश की अलग-अलग विधानसभाओं में 190 जनजाति समुदाय से आने वाले विधायक हैं। दो गवर्नर हैं जो आदिवासी समुदाय से आते हैं। 70 साल के कांग्रेस सरकार में ऐसा कभी भी नहीं हुआ है। साथ ही उन्होंने कहा कि हर घर जल मिशन के तहत 12 करोड़ लोगों के घरों को कवर करने का लक्ष्य हैl जिसमें से 9 करोड़ लोगों तक पानी पहुंचा दिया गया है। इसमें जनजाति समुदाय के 1.30 करोड़ लोग शामिल है। वहीं स्वच्छ भारत मिशन के तहत 12 करोड़ लोगों को खुले में शौच से मुक्ति मोदी सरकार ने दिलाया है जिसमें 1.50 करोड़ लोग जनजाति समुदाय से आते हैं।

आईएएस के घर छापेमारी होती, तो उन्हें दर्द होता है..
इसके साथ ही जेपी नड्डा ने कहा कि कई अनियमितताओं में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के कार्यालय के लोग शामिल हैं। यही कारण है कि जब एक आईएएस अधिकारी के करीबी के घर से करोड़ों रुपये नकद पकड़े जाते हैं तो सत्तारूढ़ गठबंधन दल में शामिल लोगों को दर्द होता है। इस दल के लोगों का ऐसे भ्रष्ट अधिकारियों से किस प्रकार का संबंध था, इसका खुलासा होना चाहिए।

रूपा तिर्की हत्याकांड का मामला भी उठाया..
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा की सोरेन के कार्यकाल में एक आदिवासी पुलिस अधिकारी की हत्या हो जाती हैl सबसे बड़ी बात है कि उस काण्ड में मुख्यमंत्री कार्यालय के लोगों के तार जुड़े हैं लेकिन भी तक कोई कार्रवाई नहीं होती हैl वहीं दूसरी तरफ राज्य में उग्रवाद की घटनाएँ भी बाद रही हैं जो पिछली सरकार में नियंत्रण में रहीl स्थानीय स्तर पर अपराध भी बढ़ रहा हैl अभी के माहौल में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैंl

प्रदेश के सभी प्रमुख नेता, सांसद-विधायक रहे मौजूद..
इस मौके पर भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास, केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, पूर्व केंद्रीय मंत्री कड़िया मुंडा, विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश तथा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष समीर उरांव समेत कई विधायक और सांसद भी मंच पर मौजूद थे।