बीजेपी समीक्षा बैठक में हुई मुठभेड़, थाने में दर्ज हुई 3 अलग-अलग शिकायतें..

गोड्डा लोकसभा सीट पर भाजपा की जीत को लेकर बुलाई गई समीक्षा बैठक में अचानक धक्का-मुक्की शुरू हो गई. यह घटना देवघर विधायक नारायण दास और उनके समर्थकों के साथ घटी. इसके बाद विधायक काफी बिगड़ गए, मीडिया को दिए बयान में विधायक ने कहा कि गोड्डा सांसद डॉ. निशिकांत दुबे ने कार्यकर्ताओं की बदौलत गोड्डा से चौथी बार जीत दर्ज की है, लेकिन खुद को सांसद संगठन से भी ऊपर मानते हैं. उनकी नजर में वह संगठन की बदौलत नहीं बल्कि अपनी बदौलत चुनाव नहीं जीतते हैं. उन्होंने आगे कहा कि उस दौरान मैं जिला मंत्री था जब 2009 में सांसद चुनाव लड़ने आए थे. उनको कार्यालय तक नहीं मिल रहा था तब चुनाव के दौरान मैं उनका सारथी बनकर रहा, लेकिन सोमवार को प्रदेश के महामंत्री सह राज्यसभा सांसद आदित्य साहू और प्रदेश उपाध्यक्ष बालमुकुंद सहाय की उपस्थिति में मेरे साथ जो हरकत हुई वह बेहद शर्मनाक है. आरोप लगाया कि सांसद ने बैठक में कुछ लोगों को भेजा था, जो पार्टी के कार्यकर्ता भी नहीं हैं, उन्हीं लोगों ने मुझे बैठक के दौरान गाली दी और मेरे कार्यकर्ताओं को मारा। साथ ही गोड्डा जिलाध्यक्ष संजीव मिश्रा के साथ भी बहुत बदसुलूकी किया गया. देवघर विधायक नारायण दास ने कहा कि उनके लोगों का आरोप है कि हमने काम नहीं किया. एक भी मंडल अध्यक्ष बताए कि उन्होंने किसको मना किया है. आखिर कैसे देवघर विधानसभा में लीड हो गया. प्रदेश के लोगों को अविभास लेने की जरूरत है.

विस्तार में पूरा मामला
गोड्डा लोकसभा सीट पर मिली जीत को लेकर कास्टर टाउन स्थित रिलेक्स होटल में भाजपा की समीक्षा बैठक होनी तय थी. समीक्षा बैठक शुरू हुई थी उसी दौरान कथित रूप से सांसद के द्वारा भेजे गए लोग विधायक के साथ गाली गलौज करने लगे, साथ ही गोड्डा जिला अध्यक्ष संजीव मिश्रा के साथ भी गाली गलौज किया. वहीं, जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल करते हुए मोहनपुर प्रखंड के पूर्व उपाध्यक्ष देवाशीष चौधरी, महिला कार्यकर्ता के साथ गाली-गलौज करने लगे. जबकि दूसरे पक्ष की ओर से विनिता पासवान ने विधायक सहित उनके समर्थकों के खिलाफ गाली-गलौज और छिनतई करने की शिकायत दर्ज की है. अब तक थाना में तीन अलग-अलग शिकायतें दर्ज कराई जा चुकी हैं.

I – शिकायत
मोहनपुर प्रखंड के पूर्व उपाध्यक्ष बसडीहा निवासी देवाशीष चौधरी ने मामले को लेकर नगर थाना में एक शिकायत दर्ज कराई है. जिसमें उन्होंने कहा है कि होटल महादेव पैलेस में भाजपा पार्टी की समीक्षा बैठक चल रही थी, जहां वह स्थानीय विधायक नारायण दास से भेंट करने गए थे. उसी दौरान जसीडीह थाना क्षेत्र के धरवाडीह निवासी निर्मल मिश्रा व गिधनी मोड़ निवासी राहुल तिवारी वहां पहुंचे और कालर पकड़कर मारपीट करने लगे. दोनों आरोपितों ने बड़े नेता बनने की बात कहते हुए उन्हें मारकर फेंक देने की धमकी दी, साथ ही अंजाम भुगतने की बात कहते हुए जातिसूचक शब्द का भी इस्तेमाल किया. पूरी घटना होटल में लगे सीसीटीवी कैमरा में कैद हो गई है.

II – शिकायत
वहीं दूसरी शिकायत कुंडा थाना क्षेत्र के कोरियासा मोहल्ला निवासी सुशीला देवी, सुशीला देवी और रीता देवी द्वारा दर्ज कराई गई है. शिकायत में जिक्र है कि पार्टी की समीक्षा बैठक होटल रिलैक्स में होनी थी, विधायक नारायण दास से मिलने तीनों होटल महादेव पैलेस पहुंची थी. विधायक से मिलने के लिए तीनों बाहर उनका इंतज़ार कर रही थी. तभी अचानक धरवाडीह निवासी निर्मल मिश्रा तीनों महिलाओं के साथ धक्का-मुक्की करते हुए अभद्र भाषा का प्रयोग करने लगे, वहीं पछियारी कोठिया निवासी राहुल तिवारी भी जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करते हुए उनसे गाली गलौज करने लगे.

III – शिकायत
दूसरे पक्ष की विनिता पासवान ने शिकायत दर्ज कराते हुए कहा है कि होटल महादेव पैलेस में हुई समीक्षा बैठक के समापन के बाद वह प्रदेश से आए पार्टी पदाधिकारियों से मिलकर अपनी बात रखने जा रही थी, वहीं पर देवघर विधायक नारायण दास अपने समर्थक देवाशीष चौधरी, चंदनाठाढ़ी मोड़ निवासी गौतम यादव, देवीपुर निवासी विकास यादव, मोहनपुर निवासी सुभाष यादव, देवीपुर निवासी मनीष कुमार चुन्नू, विकास वर्मा, त्रिलोचन दास, त्रिपुरारी दास, सुलोचना देवी सहित अन्य 10 पुरुष और 10-12 की संख्या में महिलाओं के साथ खड़े थे. जहां उन्हें देखते ही विधायक आग-बबुला हो गए और जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल करते हुए गाली गलौज और अभद्र व्यवहार करने लगे. विधायक ने अपने समर्थकों को उन्हें धक्का मारकर बाहर करने को कहा. विधायक ने उसके साथ धक्का-मुक्की भी की, साथ ही उनके गले से तीन भरी के सोने का चेन भी विधायक और उनके समर्थकों ने छीन लिया. तत्पश्यात उनके समर्थकों ने वहां पहुंचकर उन्हें बचाया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *