सीएम हेमंत सोरेन 12 जुलाई को देंगे 1500 पीजीटी शिक्षकों को नियुक्ति पत्र…

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने घोषणा की है कि वह 12 जुलाई को 1500 पीजीटी (स्नातकोत्तर प्रशिक्षित शिक्षक) शिक्षकों को नियुक्ति पत्र सौंपेंगे. इस महत्वपूर्ण समारोह का आयोजन रांची के प्रभात तारा मैदान में किया जाएगा. कार्यक्रम का समय दोपहर 12:30 बजे निर्धारित किया गया है.

पहले प्रस्तावित कार्यक्रम की स्थगन की कहानी

इससे पहले, यह कार्यक्रम तीन जुलाई को आयोजित किया जाना था. उस समय तत्कालीन मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन द्वारा नियुक्ति पत्र वितरण की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई थीं. लेकिन झारखंड के स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने अपरिहार्य कारणों का हवाला देते हुए इस कार्यक्रम को स्थगित कर दिया था. इस निर्णय से कई शिक्षक और संबंधित व्यक्ति निराश हो गए थे, जिन्होंने इस दिन का बेसब्री से इंतजार किया था.

नियुक्ति पत्र का महत्व और इससे जुड़ी उम्मीदें

1500 पीजीटी शिक्षकों को नियुक्ति पत्र देने का यह कार्यक्रम झारखंड राज्य में शिक्षा के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है. इससे पहले, 2022 में, झारखंड में 3120 प्लस टू शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू की गई थी. इस प्रक्रिया के पहले चरण में लगभग 1000 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र सौंपा गया था. दूसरे चरण में तीन जुलाई को 1500 पीजीटी शिक्षकों को नियुक्ति पत्र सौंपा जाना था, लेकिन सारी तैयारी के बावजूद कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया था. अब, 12 जुलाई को इन शिक्षकों को नियुक्ति पत्र सौंपने की तैयारी की जा रही है.

समारोह में मुख्य अतिथि और विशेष उपस्थिति

इस महत्वपूर्ण अवसर पर, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के अलावा, वित्त मंत्री डॉ. रामेश्वर उरांव, श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता, और शिक्षा मंत्री बैद्यनाथ राम भी कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे. इन मंत्रियों की उपस्थिति से यह समारोह और भी महत्वपूर्ण और गरिमामय हो जाएगा.

शिक्षकों के लिए एक बड़ी उपलब्धि

नियुक्ति पत्र वितरण समारोह उन शिक्षकों के लिए एक बड़ी उपलब्धि होगी जिन्होंने अपनी मेहनत और समर्पण से इस मुकाम को हासिल किया है. झारखंड सरकार के इस कदम से राज्य के शिक्षा क्षेत्र में नए अवसर और सुधार की उम्मीदें बढ़ गई हैं. पीजीटी शिक्षकों को इस अवसर का बेसब्री से इंतजार है और यह उनके करियर में एक महत्वपूर्ण मोड़ साबित होगा.

शिक्षा क्षेत्र में सुधार की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की यह पहल राज्य के शिक्षा क्षेत्र में सुधार की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है. इस कदम से न केवल शिक्षकों का मनोबल बढ़ेगा बल्कि राज्य के छात्रों को भी गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करने का मौका मिलेगा. राज्य सरकार का यह निर्णय झारखंड के शिक्षा प्रणाली में सुधार की दिशा में एक महत्वपूर्ण प्रयास है, जिससे राज्य में शिक्षा का स्तर बेहतर होगा.

भविष्य की योजना और उम्मीदें

झारखंड सरकार की यह पहल राज्य में शिक्षा के क्षेत्र में सुधार के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को दर्शाती है. सरकार द्वारा इस तरह की योजनाओं और कार्यक्रमों के माध्यम से शिक्षकों और छात्रों को बेहतर अवसर प्रदान करने की दिशा में निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं. यह नियुक्ति पत्र वितरण समारोह न केवल शिक्षकों के लिए बल्कि राज्य के शिक्षा क्षेत्र के लिए भी एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर साबित होगा. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और उनकी टीम का यह कदम राज्य में शिक्षा के क्षेत्र में सकारात्मक बदलाव लाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण प्रयास है. 12 जुलाई को होने वाला यह कार्यक्रम न केवल शिक्षकों के लिए बल्कि पूरे राज्य के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर होगा. इस कार्यक्रम के माध्यम से राज्य के शिक्षा क्षेत्र में नई ऊर्जा और उत्साह का संचार होगा, जो आने वाले समय में राज्य की शिक्षा प्रणाली को और भी मजबूत बनाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *