15 के बाद फिर करवट लेगा मौसम, सिहरन बढ़ी..

झारखंड से मानसून पूरी तरह विदा हो चुका है। अपने तय समय 11 अक्टूबर से राज्य भर से मानसून विदा हो चुका है। झारखंड में इस बार 12 जून को मानसून प्रवेश किया था। इस अवधि के दौरान राज्य में लगभग अपेक्षित बारिश हुई। मौसम वैज्ञानिक अभिषेक आनंद ने बताया कि अगले तीन दिनों तक राज्य में मौसम शुष्क रहेगा। सुबह-शाम की सिहरन जारी रहेगी। 15 के बाद मौसम एक बार फिर से करवट लेगा। इस दौरान कई जिलों में बारिश की संभावना मौसम विभाग ने जतायी है. मौसम वैज्ञानिक ने कहा कि उत्तरी अंडमान सागर और उसके आसपास के क्षेत्र में एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन बना हुआ है। जल्दी ही यह प्रबल होकर उत्तर और पश्चिमोत्तर की ओर बढ़ेगा। इसके 15 अक्टूबर को दक्षिणी ओड़िशा एवं उत्तरी आंध्रप्रदेश पहुंचने का अनुमान है। इसके असर से झारखंड में बारिश शुरू होगी। 16 और 17 अक्टूबर को झारखंड में अच्छी बारिश देखने को मिल सकती है।

वहीं झारखंड में इस बार पोस्ट मानसून भी जमकर बारिश हुई है। झारखंड में 1 अक्टूबर से लेकर 11 अक्टूबर तक की अवधि पोस्ट मानसून का था। इस दौरान राज्य में 59.9 मिलीमीमटर बारिश हुई है। जो अपेक्षित बारिश से लगभघ 10 मिमी. अधिक है। मानसून के दौरान रांची में बेहतरीन बारिश रिकार्ड की गई। रांची में मानसून की अवधि में 1074.6 मिमी बारिश अपेक्षित है। जबकि इस अवधि में रांची में 1213.9 मिमी बारिश रिकार्ड किया गया। यह सामान्य से 13 प्रतिशत ज्यादा है। एक जून से 30 सितंबर तक राज्य में सबसे ज्यादा बारिश लोहरदगा में दर्ज किया गया, जो सामान्य से 49 प्रतिशत ज्यादा है। राज्य में सबसे कम बारिश पाकुड़ में दर्ज की गई। यहां सामान्य से 36 प्रतिशत कम बारिश हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *