अब रांची एयरपोर्ट पर उतरेंगे बोइंग विमान, रनवे विस्तारीकरण के लिये सरकार ने दी मंजूरी..

रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट को राज्य सरकार से 303.62 एकड़ जमीन मिल गई है जिससे एयरपोर्ट का विस्तार किया जाएगा। बिरसा मुंडा एयरपोर्ट के रनवे की लंबाई बढ़ाई जाएगी, ताकि यहां बड़े बोइंग विमान उतर सकेंगे। रनवे की लम्बाई व चौड़ाई न होने से यहां बड़े बोइंग विमान नहीं उतारे जा सकते है |हालांकि की रनवे की लंबाई बढ़ने के बाद रांची एयरपोर्ट देश के बड़े एयरपोर्ट में शुमार हो जायेगा। रांची एयरपोर्ट के विस्तार का मास्टर प्लान खाका तैयार हो रहा है। एयरपोर्ट को आकर्षक बनाया जाएगा और यात्री सुविधा भी बढ़ाई जाएंगी। साथ ही एयरपोर्ट के हैंगर का भी विस्तार होगा।

रांची के के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट के रनवे की चौड़ाई भी बढ़ाई जाएगी। फ़िलहाल रनवे की चौड़ाई 45 मीटर है। जबकि, इसकी चौड़ाई को 60 मीटर तक बढ़ाने की योजना है, ताकि लैंडिंग और टेक ऑफ में आसानी हो सके।अभी रनवे की लंबाई 2748 मीटर है। लेकिन , एयरपोर्ट के रनवे की लंबाई साढ़े तीन हजार मीटर करने की बात कही जा रही है | रनवे की लंबाई बढ़ने से एयरपोर्ट पर बोइंग विमान आसानी से उतर सकेंगे |

एयरपोर्ट के निदेशक विनोद शर्मा ने बताया कि कभी-कभी विमान के व्हील नहीं खुलते। ऐसे में बेली लैंडिंग करानी पड़ती है। बेली लैंडिंग में खतरा कम होता है।
इस वजह से रांची एयरपोर्ट के रनवे स्ट्रिप का भी विस्तार होगा। आपको बता दें की रनवे स्ट्रिप के होने से विमानों को इमरजेंसी के समय बेली लैंडिंग करने में आसानी होती है। अभी विमान पर बेली लैंडिंग नहीं हो सकती। बेली लैंडिंग के लिए रनवे के बगल में कच्ची जमीन चाहिए। इसलिए रनवे से लगभग डेढ़ सौ मीटर चौड़ी रनवे स्ट्रिप विकसित करने की योजना भी चल रही है, ताकि बेली लैंडिंग में इस स्ट्रिप का इस्तेमाल किया जा सके |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *